नवगछिया अनुमंडल अस्पताल के प्रबंधक के हटाए जाने की अनुशंसा.. कार्य में उदासीनता

0
53
नवगछिया : पति ने पत्नी का हसुआ से गला रेता
नवगछिया : पति ने पत्नी का हसुआ से गला रेता

नवगछिया अनुमंडल अस्पताल के प्रबंधक के हटाए जाने की अनुशंसा

नवगछिया अनुमंडल अस्पताल के प्रबंधक राजू प्रधान के हटाए जाने की अनुशंसा अस्पताल उपाधीक्षक डाॅ. वरूण कुमार ने सिविल सर्जन भागलपुर उमेश शर्मा से की है। उपाधीक्षक डॉ. वरूण कुमार ने कहा कि प्रबंधक राजू प्रधान के द्वारा लगातार कार्य में उदासीनता बढ़ती जा रही है। जिसको लेकर कोविड महामारी के संदर्भ में। स्वास्थ्य कार्य करने में असुविधा हो रही। उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी के निरीक्षण के दौरान प्रबंधक का कार्य सहयोग पूर्ण नहीं रहा।

23 मई रविवार को प्रबंधक अनुपस्थित रहे थे। इसके साथ ही प्रखंड विकास पदाधिकारी के साथ हुई संध्या कालीन समीक्षा बैठक में भी अनुपस्थित रहे थे। उन्होंने बताया कि 12 मई को उनके द्वारा प्रभार ग्रहण किया गया परंतु अत्यंत खेद के साथ कहना पड़ रहा है कि 24 मई तक एन एच एम का लिखा प्रभाव नहीं कराया गया है। अनुमंडल अस्पताल उपाधीक्षक में कहा कि प्रबंधक के द्वारा कार्य में उदासीनता लगातार बढ़ती जा रही है जिससे स्वास्थ्य कार्य करने में असुविधा हो रही है। मालूम हो कि तीन वर्ष पूर्व प्रबंधक राजू प्रधान को नवगछिया अनुमंडल अस्पताल में सप्ताह में तीन के लिए प्रतिनियुक्त किया गया था। मूल रूप से वे कहलगांव अनुमंडल अस्पताल में प्रतिनियुक्त थे।

इधर इस संदर्भ में प्रबंधक राजू प्रधान ने कहा कि मेरे द्वारा तीन वर्षों से अनुमंडल अस्पताल नवगछिया में कार्य किया जा रहा है लेकिन इस अवधि में मेरे द्वारा कार्य मे एक भी दिन उदासीनता की बात नहीं आई। इनके उपाधीक्षक बने 12 दिन हुए है और कार्य मे उदासीनता बढ़ते जाने लगी। उन्होंने उपाधीक्षक के सभी तथ्यों को निराधार बताया है। उन्होंने कहा कि जब से वे अस्पताल उपाधीक्षक बने से चिकित्सक से लेकर सभी स्वास्थ्य कर्मी उनसे परेशान हो चुके हैं। अस्पताल में जिलाधिकारी के निरीक्षण के दौरान उन्हें डांट फटकार भी लगाई गई। उन्होंने कहा कि मंगलवार को अस्पताल के चिकित्सक एवं कर्मी उनके हटाए जाने को लेकर जिलाधिकारी को लिखेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here