पैगम्बर मोहम्मद मुस्तफा के मुए मुबारक की जियारत और महफिले शमा के साथ उर्स संपन्न

0
129
पैगम्बर मोहम्मद मुस्तफा के मुए मुबारक की जियारत और महफिले शमा के साथ उर्स संपन्न
पैगम्बर मोहम्मद मुस्तफा के मुए मुबारक की जियारत और महफिले शमा के साथ उर्स संपन्न

पैगम्बर मोहम्मद मुस्तफा के मुए मुबारक की जियारत और महफिले शमा के साथ उर्स संपन्न

बिहपुर – प्रखंड के खानका ए आलिया फरिदिया मोहब्बतिया में शनिवार को सुफी संत धर्म गुरू हजरत सैयदना मोहब्बत शाह फरीदी रहमतुल्लाह अलैह और सैयदना अलैहदाद शाह रहमतुल्लाह अलैह की पुण्य तिथि पर शुरू हुए दो दिवसीय सालाना उर्स ए पाक का समापन शनिवार को देर शाम समापन हो गया ।
सुबह सात बजे से नौ बजे तक खानकाह परिषर में पैगम्बर मुहम्मद मुस्तफा सल्लाहो बसलम के पविञ मुए मुबारक की जियारत आम मुरीदीन जायरीन व शिष्य को करायी गई ।

उर्स ए पाक में भागलपुर समेत बाहरी मुरीदीन जायरीन अकीदतमंद बडी संख्या में पहुचे थे इससे पूर्व शुक्रवार की देर रात खानकाह के सज्जादा नशीं हजरत अली कौनैन खॉ फरीदी की सदारत एवं नायव सज्जादा नशीं हजरत मौलाना अली शब्बर खॉ फरीदी के जेरे कयादत में शानदार जलसा व कबबाली का आयोजन किया गया जिसमे झारखंड से हजरत मौलाना शहाबउददीन साहब खगडिया के हजरत मौलाना हजरत अबूसालेह फरीदी बभनगामा के हजरत मौलाना शमसीर आलम ने हजरत सैयदना मोहब्बत शाह फरीदी और हजरत सैयदना अलैहदाद शाह फरीदी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए बताया कि इन दोनो का पुरा जीवन मानव सेवा भलाई इनसानियत में बिताया ।

हमें इनके बताये हुये रास्तों पर चलना चाहिए झारखंड से आये हुये शायरे इस्लाम हजरत सफक आलम नुरी मधेपुरा के शायरे इस्लाम मोजजफर अंजुम भागलपुर शायरे इस्लाम इंजमामुलहक ने एक से बढ कर नात व मनकबत सुना कर लोगो को झुमने पर विवश कर दिया जलसा का संचालन मधेपुरा के हजरत मौलाना बदरूजमा एव अररिया के हजरत साजीद रजा ने किया जबकी जलसे की शुरुआत हाफिज काडी आमीर आजम ने तिलाबते कुरान शरीफ से किया दस बजे दिन से खानकाही कव्वाली का आयोजन भी किया गया समसतीपुर के कव्वाल अकरम फरीदी एवं मधेपुरा के खलील कव्वाल ने खानकाही कव्वाली सुनाया इस जलसे व उर्स में कर्रार खान, रहबर खान, रहनुमा खान,फारूक आलम, नुरूल इस्लाम ,नकशबंदी इरफान आलम हजरत मौलाना मोबशीर आलम ,काडी राकीब रजा गुलाम, पंजतन खुरशीद आलम, जाबेद खान, मोइन राइन ताजउददीन खान, मेहरबान आलम अफरोज आलम लालू खान ,मंजूर आलम ,फारूक खलिफा हसन खान आदि मौजूद थे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here