नवगछिया : मैरचा में फिर चार घर नदी में समाये.. सड़क करीब 250 फीट कटकर नदी में

0
136
नवगछिया : मैरचा में फिर चार घर नदी में समाये
नवगछिया : मैरचा में फिर चार घर नदी में समाये

नवगछिया : मैरचा में फिर चार घर नदी में समाये

खरीक, कोसी पार भवनपुरा पंचायत के मैरचा में गुरुवार को फिर चार घर कोसी में समा गये। कोसी का कटाव लगातार जारी है। कटाव होने वाले में महेंद्र साह, जोगेश्वर साह, विवेक साह एवं शरबन दास का घर शामिल है। बुधवार को भी चार लोगों का घर नदी में समा गया था। पंसस प्रतिनिधि संजय कुमार ने बताया कि अब पूरा गांव कटाव के मुहाने पर पहुंच गया है।

जिस कारण लोग चिंतित एवं परेशान हैं। लोगों द्वारा घर तोड़कर सुरक्षित जगह पर जाने का सिलसिला जारी है। नदी के रौद्र रूप देखकर लोगों की नींद और भूख प्यास गायब है। वहीं पुरानी सिहकुंड में गांव स्थित पीसीसी सड़क करीब 250 फीट कटकर नदी में समा गया।

यहां भी कटाव जारी है। लोकमानपुर में बालू टोला के समीप हो रहा कटाव गुरुवार को काफी उग्र हो गया है। यह कटाव बमबम यादव के बासा के समीप हो रहा है। वहीं चोरहर में भी कटाव जारी है। यहां विभाग द्वारा फ्लड फाइटिंग का कार्य कर कटाव की रफ्तार पर ब्रेक लगाने का प्रयास किया जा रहा है ।

हरिओ पंचायत के कोसी पार गांव कहारपुर का वार्ड नंबर चार में भीषण कटाव जारी है। बुधवार की रात चार घर कोसी कटाव की भेंट चढ़ गये। जिसमें ज्योतिंद्र शर्मा, कैलू शर्मा, सुखो व मुखो रविदास का घर शामिल है। कोसी तेजी से कटाव करते हुए गांव के बड़े गड्ढे की ओर बढ़ रही है। इसके पास पहुंचते ही कटाव और तीव्र हो जाएगा एवं गांव का एकमात्र स्वास्थ्य उपकेंद्र पर भी कटाव का खतरा बढ़ जाएगा।

वहीं अब कटाव के मुहाने पर मैचू रविदास, ओपी शर्मा, जगदीश रविदास, सोहन शर्मा एवं छंगुरी शर्मा समेत दर्जनों लोगों के घर शामिल हैं। लोग घर से सामान हटाने को मजबूर हैं। गुरुवार को रुस्तम सिंह, सनातन सिंह, बिट्टू सिंह, राम मिलन सिंह, शक्ति सिंह, प्रकाश शर्मा, फुलेश्वर शर्मा, सर्वेश शर्मा व सुशील शर्मा ने बताया कि गांव अब नहीं बचेगा। कोसी की प्रकृति लोगों को समझ नहीं आ रही है। गांव में कोसी कटाव से त्राहिमाम मचा हुआ है। लोग कोसी की पूजा-अर्चना भी कर रहे है। लेकिन कोसी गांव को निगलने को बेताब नजर आ रही है। लोग रतजगा कर रहे है। ग्रामीण कटाव के आगे बेबस और लाचार नजर आ रहे हैं। कटाव पीड़ितों को किसी प्रकार की सहायता भी नहीं मिली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here