धर्म : ब्राह्मण समाज में मधुश्रावणी आज से, नवविवाहिताएं पति की लंबी आयु को रखेंगी व्रत

0
129
धर्म : ब्राह्मण समाज में मधुश्रावणी आज से
धर्म : ब्राह्मण समाज में मधुश्रावणी आज से

धर्म : ब्राह्मण समाज में मधुश्रावणी आज से

मधुश्रावणी और नाग पंचमी बुधवार को है। हालांकि पंचमी तिथि मंगलवार को अहले सुबह 4:14 में प्रवेश कर गया, जो बुधवार अहले सुबह 4:33 मिनट तक रहेगा।

पंडित चंद्रशेखर झा ने बताया कि महिलाओं के सुहाग की रक्षा का पवित्र पर्व मधुश्रावणी बुधवार से प्रारंभ हो रहा है। ब्राह्मण समाज की नवविवाहिताएं पति की दीर्घायु के लिए कृष्ण पक्ष की पंचमी बुधवार से इस व्रत को शुरू करेंगी और शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि 11 अगस्त को व्रत का समापन करेंगी। उन्होंने कहा कि इस बार 15 दिनों तक मधुश्रावणी व्रत चलेगा। विवाहिताएं शिव-पार्वती और नागदेव की पूजा करती हैं।

महिलाओं ने बताया कि मधुश्रावणी पूजन एक तपस्या के सामान है। इस पूजन की शुरुआत से समापन तक अरवा व शुद्ध शाकाहारी भोजन किया जाता है। इसके साथ नाग-नागिन, हाथी, गौरी, शिव आदि की प्रतिमा बनाकर प्रतिदिन फूलों से पूजा और फल व मिठाइयां का भोग लगाएंगी। नवविवाहिता के ससुराल से भेजी गई पूजन सामग्री के अलावा वस्त्र, लहठी, आभूषण पहन कर पूजा अर्चना करेंगी। समापन के दिन टेमी दागने का रस्म भी नवविवाहिता अदा करेंगी।

आज पूजे जायेंगे नाग देवता

नाग पंचमी बुधवार को मनायी जायेगी। इस दिन श्रद्धालु अपने-अपने घरों में नाग देवता की पूजन कर सर्पदंश से रक्षा की प्रार्थना करेंगे। पंडित सौरभ कुमार मिश्रा ने बताया कि सावन माह में कृष्ण पक्ष पंचमी तिथि को नाग पंचमी का पर्व मनाया जाता है। घर में दूध, लावा आदि का भोग लगाया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here