बिहार : बाढ़ का खतरा, बक्सर से भागलपुर तक गंगा में उफान, खगड़िया में लाल निशान से 122 सेमी ऊपर

0
71
बिहार : बाढ़ का खतरा
बिहार : बाढ़ का खतरा

बिहार : बाढ़ का खतरा, बक्सर से भागलपुर तक गंगा में उफान

पटना में गंगा नदी का बढ़ना अब भी जारी है। शनिवार को इस नदी का जलस्तर बक्सर से भागलपुर तक ऊपर चढ़ा। इस बीच नदी चार जगहों पर लाल निशान से ऊपर बह रही है। वहीं पुनपुन ने तेजी से घटना शुरू किया है लेकिन यह अब भी लाल निशान से काफी ऊपर है।

राज्य में गंगा नदी के जलस्तर में रोज उतार-चढ़ाव हो रहा है। बक्सर में यह नदी शनिवार को 61 सेमी ऊपर चढ़ी। हालांकि वहां अब भी लाल निशान से 20 सेमी नीचे है। पटना के गांधी घाट पर यह नदी शनिवार को 23 सेमी ऊपर चढ़ी, वहां लाल निशान से 68 सेमी ऊपर चली गई है। दीघा घाट में 33 सेमी ऊपर चढ़कर लाल निशान शनिवार को पार कर गई। हाथीदह में 56 और भागलपुर में 16 सेमी ऊपर बह रही है।

पटना के लिए अच्छी बात यह है कि पुनपुन जिस तेजी से बढ़ी, उसी तेजी से नीचे उतर रही है। शनिवार को पटना के श्रीपालपुर में इस नदी का जलस्तर तेजी से घटने के बाद 23 सेमी लाल निशान से ऊपर है। दो दिन पहले तक यह नदी ड़ेढ़ मीटर से ज्यादा ऊपर थी। सोन नदी तो बढ़ रही है लेकिन इसकी गति काफी मंद है।

उधर, कोसी नदी का डिस्चार्ज भी घटा है। कोसी नदी से बराह क्षेत्र में 96 हजार और बराज पर एक लाख 21 हजार घनसेक पानी मिल रहा है। यह नदी खगड़िया में लाल निशान से 122 सेमी ऊपर है। गंडक का डिस्चार्ज भी वाल्मीकिनगर बराज पर एक लाख 21 हजार घनसेक है। यह नदी गोपालगंज में लाल निशान से 38 सेमी ऊपर है। बागमती मुजफ्फरपुर में 20 और बूढ़ी गंडक खगड़िया में 14 सेमी ऊपर है। खिरोई दरभंगा में पांच सेमी ऊपर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here