नवगछिया : बारिश से कीचड़मय हुई खरीक पीएचसी जाने वाली सड़क, पैदल चलना भी मुश्किल

0
208
नवगछिया : बारिश से कीचड़मय हुई खरीक पीएचसी जाने वाली सड़क, पैदल चलना भी मुश्किल
नवगछिया : बारिश से कीचड़मय हुई खरीक पीएचसी जाने वाली सड़क, पैदल चलना भी मुश्किल

नवगछिया : बारिश से कीचड़मय हुई खरीक पीएचसी जाने वाली सड़क, पैदल चलना भी मुश्किल

बारिश के बाद खरीक पीएचसी जाने वाली सड़क की हालत खराब हो गई है। सड़क पर कीचड़ फैल गया है। इस कारण इस पर पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है। सड़क पर जगह-जगह बने गड्ढों में पानी भर गया है। उबड़-खाबड़ और कीचड़मय सड़क पर गिरने से बाइक सवार घायल हो रहे हैं। यह सड़क उर्दू चौक से खरीक मिडिल स्कूल, इंटर लेवल हाईस्कूल, कस्तूरबा आवासीय विद्यालय होते हुए खरीक पीएचसी तक जाती है।

लगातार हो रही वारिश ने इस सड़क की स्थिति बद से बदतर कर दी। विधायक से लेकर सांसद तक बदल गए पर एक लाख से अधिक की आबादी को जोड़ने वाली इस सड़क की सूरत नहीं बदली। इस सड़क होकर रोजाना दर्जनों छोटे व बड़े वाहन भी गुजरते हैं। आए दिन लोग सड़क हादसे का शिकार होते रहते हैं। किन्तु, इस सड़क की दुर्दशा को देखने वाला कोई नहीं है। लिहाजा, इलाके के लोग इसी जर्जर व गढ्ढ़े में तब्दील सड़क पर ही चलने को अपना नियति मानकर चुप बैठना ही मुनासिब समझने लगे हैं।

सड़क निर्माण को सांसद और विधायक कर चुके हैं शिलान्यास लेकिन अब तक नहीं बनी

इस सड़क का पूर्व सांसद शैलेश कुमार उर्फ बुलो मंडल ने सांसद व विधायक के कार्यकाल में ही निर्माण के लिए शिलान्यास कर चुके हैं। इसके अलावा पूर्व विधायक वर्षा रानी और वर्तमान विधायक ईं. कुमार शैलेन्द्र भी शिलान्यास कर चुके हैं। इस बार भी ईं. शैलेन्द्र ने विधायक बनने के साथ ही 28 फरवरी को 40 लाख की लागत से निर्माण होने वाली इस सड़क का फिर शिलान्यास किया।

इसके बाद सड़क पर मिट्टी भराई का काम शुरू हुआ। इससे इलाके के लोगों में उम्मीद जगी थी कि इस बार सड़क का निर्माण हो जाएगा। ग्रामीणों का आरोप है कि ठेकेदार ने आधा-अधुरा मिट्टी डालकर छोड़ दिया। जिसके कारण सड़क की स्थिति पहले से भी बदतर हो गई। लोगों ने डीएम से शीघ्र इस दिशा में पहल करने की मांग की है।
खरीक पीएचसी जाने वाली सड़क बारिश के बाद कीचड़मय हो गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here